Sunday, November 27Read New Facts in Hindi with Us!

Aura (आभामंडल) के बारे में

आज हम कुछ अलग Enigmatic (रहस्यपूर्ण) – Spiritual (आध्यात्मिकता) चीज़ की बात करेंगे। – आपने Aura का नाम तो सुना होगा जिसे “आभामंडल” कहते है।

आपको छोटे शब्द मे कहे तो इसे एक ऊर्जा, Energy, आप Vibes भी कह सकते हो, ये Aura एक प्रकार की Vibration है + जो हमारे शरीर के आजू-बाजू रहता है। सिफ़ हमारे ही नही कोई जानवर, कोई पदार्थ, कोई चीज़ – जेसे की कोई table : table के आजू बाजू भी ऊर्जा (Aura) रहता है।

Aura को हम देख सकते है की नही वोह बात महत्व की नही है + महत्व की बात यह है की Aura / ऊर्जा को हमारा subconscious mind ( अवचेतन मन ) उस ऊर्जा को फील कर सकता है।

subconscious mind ( अवचेतन मन ) के वजे से हमे दूसरे इंसान की vibes अच्छी ओर अजीब लगती है। (हम कहते है ना की उस इंसान की vibes बोहोत अच्छी है, उस इंसान से बात करने मे अच्छा लगता है + तो जो वो vibes है ना वो Aura / ऊर्जा है।)

चलो हम और अच्छे से इस Aura + इस Energy को देखते है,

( 1910 में, “लीडबीटर” ने अपनी पुस्तक ‘द इनर लाइफ’ में चक्रों की तांत्रिक धारणा को शामिल करके Aura की आधुनिक अवधारणा पेश की है। )

आपके हाथ मे ये जो फोन है वो भी ऊर्जा ही है लेकिन वो solid form मतलब की ठोस रूप मे है, आपके फोन के आजू बाजू भी Aura है, सिफ़ कोई वस्तु ही नही पूरी की पूरी दुनिया ओर दुनिया के बाहर का सब कुछ एक Energy है – एक ऊर्जा है।

जेसे की मेने पहले कहा की Aura को हम देख नही सकते लेकिन हमारा subconscious mind ( अवचेतन मन ) उसको उस Aura को फील करता है। इसी लिए subconscious mind ( अवचेतन मन ) से आप किसी भी इंसान को देख कर भाप लेते हो की वो केसा इंसान है।

कभी कभी पता है आपने किसी इंसान को पहले कभी देखा ना हो तो भी वो इंसान आपको Attractive ( आकर्षक ) लगता है। ओर उनसे बात करने मे अच्छा भी लगता है – क्योकि आपका Aura ओर दूसरे इंसान Aura एक जेसा समान है ओर आपका – उनका Aura match करता है।

ये Aura किसी इंसान का बोहोत ज्यादा ओर बोहोत पॉज़िटिव होता है जेसे की “बुद्ध” ओर वेसे महान लोग का Aura। – उनकी ऊर्जा शक्ति बोहोत ज्यादा – बड़ी – ओर पॉज़िटिव होती है जिसके वजे से उनको देखते ही आपका मन भी खुश होने लगता है ओर आपको भी उनकी ऊर्जा के वजेसे से अच्छी vibes आने लगती है।

आपने “बुद्ध” जी का फोटो तो देखा होगा – उपर जो फोटो है उसमे बुद्ध जी के पीछे जो सफ़ेद रंग है – वेसा ही Aura होता है। वेसे तो वो ऊर्जा हमारे शरीर के उपर होती है ओर दिखाई नही देती है, लेकिन फोटो देख कर थोड़ी समज लगा सकते है।

जेसी हमारा Aura होता है वेसे ही दूसरे को हम लगते है, वेसि ही हमारी vibes होती है ओर सामने वाला इंसान का subconscious mind ( अवचेतन मन ) वेसा ही फील करता है।

सबका Aura अलग अलग होता है। किसी का बोहोत पॉज़िटिव ओर दूर तक फेरा होता है – जिसके वजे से उसको दूर से देखते ही हमे अच्छा ओर खुशी का अनुभव होता है।

एक उदाहरण लेते है, तो आपने “Laughing Buddha” जी का नाम तो सुना ही होगा वो जहा भी जाते, कोई भी गाव जाते तो वहा के लोग अपने आप ही खुश हो जाते उनको देखके। ऐसा क्यू होता था मालूम – क्यूकी वो Laughing Buddha जो थे उनका Aura / ऊर्जा बोहोत पॉज़िटिव ओर हसमुक मतलब खुश रहने वाली vibes थी जिसके वजे से उनको देखते ही सब खुश हो जाते।

वेसि ही ऊर्जा, Aura – vibes सब मे होती है लेकिन किसमे ज्यादा तो किसमे कम + हर किसी की ऊर्जा उस इंसान के हिसाब से होती है मतलब की वो इंसान जेसा भीतर से होगा वेसि ही उसकी Aura / ऊर्जा भी होगी।

आज आपने ये समजा की Aura – ऊर्जा – vibes क्या है। – मे आशा रखता हु की आपको मालूम चला होगा ओर कोई सवार हौ तो हमे comment करके जरूर पूछे / ओर हमे भी Aura पर अपना विचार जरूर बताए।

आज Aura / ऊर्जा क्या है वो देखा ओर इसके बाद इसके दूसरे भाग ( pt-2 ) मे हम देखेंगे की Aura / ऊर्जा क्या काम करती है।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *